डिजिटल मार्केटिंग से पैसे कैसे कमाए | digital marketing course

आज के समय में पैसा कमाने के बहुत से साधन है आप आप बहुत से माध्यम के जरिए पैसा कमा सकते हैं। डिजिटल मार्केटिंग भी इनमे से एक है डिजिटल मार्केटिंग के माध्यम से आजकल लोगों को बहुत सारे  पैसों  की कमाई  हो । पैसा कमाने के बहुत से माध्यम है लेकिन  बड़ती टेक्नोलॉजी के साथ डिजिटल माध्यम से पैसा कमाने वालों की संख्या बहुत बड़ी है। सामन्यतः पैसा कमाने के लिए  आपको सुबह 9 बजे से 5/6 बजे तक कार्य कर आपको  पैसा दिया जाता है। लेकिन इसमें एसा नहीं है।

आप जितना कार्य करो उतना ही अधिक पैसो की प्राप्ति  होती हैं। लेकिन  इस से पैसा कमाना इतना ही ज्यादा आसान नहीं है  जितना आप सोच रहे होंगे। अगर आप  मेहनत करेगें तो आप अपने लिए इस रास्ते को आसान बना सकते है।  लेकिन  डिजिटल से पैसा कमाने से पहले आपको यह समझना होगा कि  डिजिटल मार्केटिंग क्या है

क्या है डिजिटल मार्केटिंग

डिजिटल मार्केटिंग की अनेक  परिभाषा है  अलग अलग विद्वान ने अलग अलग प्रकार से इसको समझाया है। लेकिन इसकी की  सबसे सरल परिभाषा यह है, कि वे सारे किये जाने  वाले  प्रयास जिसमें आप मार्केटिंग करने के लिए विभिन्न इलेक्ट्रोनिक डिवाइस या इंटरनेट का उपयोग करते है, डिजिटल मार्केटिंग कहलाती है।

इस मार्केटिंग में विभिन्न व्यावसायिक चैनलों जैसे सर्च इंजन, सोशल मीडिया, ईमेल और वेबसाइटो का उपयोग ग्राहको से जुडने के लिए किया जाता है। डिजिटल उच्च स्तर पर, इसमें डिजिटल चैनलों जैसे सर्च इंजन, वेबसाइट, सोशल मीडिया, ईमेल और मोबाइल ऐप के माध्यम से वितरित विज्ञापन को संदर्भित करता है।

इन ऑनलाइन मीडिया चैनलों का उपयोग करते हुए, यह वह तरीका है जिसके द्वारा कंपनियां वस्तुओं, सेवाओं और ब्रांडों को  प्रमोशन करती हैं। उपयोगकर्ता , उत्पादों के विज्ञापन के लिए डिजिटल साधनों पर बहुत अधिक भरोसा करते हैं।

उदाहरण के लिए, थिंक विद गूगल मार्केटिंग इनसाइट्स ने पाया कि 48% उपभोक्ता खोज इंजन पर अपनी पूछताछ शुरू करते हैं, जबकि 33% ब्रांड वेबसाइटों को देखते हैं और 26% मोबाइल एप्लिकेशन के भीतर खोज करते हैं। इस प्रकार सभी इन्टरनेट का प्रयोग  कर  अपनी  जानकारी को सही दिशा में और अधिक  सही प्राप्त करती हैं।

डिजिटल मार्केटिंग सैलरी


लोगों की जिंदगी के साथ  उनकी जरूरत भी बड़ती जारी है। ऐेसे में आपको ज्यादा पैसों की जरूरत होती हैं।  इसकी सैलरी की बात करी जाये तो , ये बोलना मुस्किल है कि आप कितना पैसा कमा  लोगे।


डिजिटल मार्केटिंग में पैसा कमाने की कोई लिमिट नहीं है  आप जितना मेहनत करोगे उतना पैसा कमाओगे । शुरू में आपको थोड़ा ध्यान देना होगा और उससे पहले इस को अच्छे से सीखना होगा। अगर आप अच्छे से सीख जाते हैं 

तो आप इस काम को शुरू कर । लाखो रूपए कमा सकते है। इसके साथ-साथ आप इतना ज्यादा पैसा कमा सकते है कि आप उतना पैसा एक साधारण जॉब में नहीं  कमा सकते है।

डिजिटल मार्केटिंग कोर्स कैसे करे

अगर आप ने इसमें से पैसा कमाना है तो आप डिजिटल का कोर्स करे। या किसी के माध्यम से इसे सीखे। आजकल सभी डिजिटल मे किसी न किसी से कनेक्ट है। ई प्रकार आप सभी को डिजिटल तकनीक की  थोड़ी जानकारी जरूर होगी। जो आपको इसका कोर्स सीखने में मदद करेगी।

शुरू में आपको बहुत  चीजो को समझना मुश्किल होगा। लेकिन आप धारे धीरे ही सीखेंगे। और किसी के माध्यम से सीखते हैं  तो अच्छी बात है। लेकिन आजकल सबसे अच्छा सीखने का जरिया  यूट्यूब बन गया है। यूट्यूब में आजकल सभी जानकारियां प्राप्त होती हैं। डिजिटल की जानकारी को आप बहुत लोगों के माध्यम से से  यूट्यूब पर प्राप्त हो जाती हैं। जो आपको लाइव डेमो के साथ बताएंगे।

जिससे आपको सीखने में बहुत आसानी होती हैं।  आजकल  डिजिटल की बढ़ती डिमांड को लेकर, हर शहर,क्षेत्र में उसके कोचिंग संस्थान खोल दिए गए है। आप जाकर उनके साथ जॉइन के सकते हैं। यह बहुत बड़ा फील्ड है। इसमें अनेक प्रकार से मार्केटिंग कर के पैसो की कमाई की जाती है। 

आपको तय करना होगा कि आपके किस फील्ड में डिजिटल मार्केटिंग करनी है  ।आप उस फील्ड से जुड़े कोचिंग में इसकी कोचिंग प्राप्त कर सकते हैं। और साथ ही डिजिटल मार्केटिंग शुरू कर सकते है।

डिजिटल मार्केटिंग कोर्स फीस

इसमें में बहुत सारे टॉपिक कोर्स है। जिनके माध्यम से से आप  पैसा कमा सकते हैं। अगर आप डिजिटल मार्केटिंग सीख रहे हैं तो आपके लिए यह बेहतर बिजनैस बन सकता है। अलग अलग कोर्स की अलग अलग फीस हैं। लेकिन बहुत से ऐसे माध्यम भी हैं जो आपको फ्री में बहुत से इसके कोर्स सिखाता है। जिसमें आपका कोई भी रूपए खत्म नहीं होता है।

इसका अच्छा example यूट्यूब है। जिसके माध्यम से आपको घर बेठे डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स कर सकते हैं। इसके लिए आपको एक इन्टरनेट और साथ में मोबाइल या लैपटॉप  की जरूरत है। अगर आप कोचिंग सेंटर जाते है तो आपको  इसके लिए इसके कोर्स के हिसाब से फीस देने होगी। साधारण तोर पर आपको  इसके लिए  20,000 तक मिनिमम देने की जरूरत होती हैं  ।और अगर साथ में कुछ कोर्स करे तो  आपको 50,000 या  1 लाख  तक  देना पड़ सकता है।

डिजिटल मार्केटिंग में करियर

डिजिटल मार्केटिंग

डिजिटल मार्केटिंग में आप अपना केरियर बनाना चाहते है तो आप डिजिटल मार्केटिंग को अच्छी तरह से समझ गए होंगे | और अगर आपने इसमें केरियर बनाना चाहते है तो आप बिलकुल सही दिशा म है क्योकि डिजिटल माकेर्टिंग का ही समय आगे बलवान होने वाला है लेकिन इसमें आपको समझना होगा की,

डिजिटल मार्केटिंग में क्या काम करना होता है? डिजिटल मार्केटिंग से पैसे कैसे कमाए? डिजिटल मार्केटिंग में क्या क्या सिखाया जाता है? डिजिटल मार्केटिंग कोर्स कैसे करे? डिजिटल मार्केटिंग के नुकसान , फ्री डिजिटल मार्केटिंग कोर्स, डिजिटल मार्केटिंग के फायदे |

डिजिटल मार्केटिंग की फील्ड में अपने इंटरेस्ट, टैलेंट और स्किल सेट के मुताबिक कोई कोर्स करके कंटेंट मार्केटर, कॉपी राइटर, कंवर्जन रेट ऑप्टिमाइज़र, पीपीसी मैनेजर/ एग्जीक्यूटिव,एसईओ एग्जीक्यूटिव/ मैनेजर, एसईएम मैनेजर/ एक्सपर्ट, सोशल मीडिया मैनेजर/ एग्जीक्यूटिव, ई-कॉमर्स मैनेजर, एनालिटिकल मैनेजर, सीआरएम एंड ईमेल मार्केटिंग आदि मे अपना फ्यूचर बना सकते हो | ये कोर्स दिला सकता है लाखों रुपये की सैलरी |

डिजिटल मार्केटिंग से पैसे कैसे कमाए

डिजिटल माकेर्टिंग में आप विभिन्न कोर्स से पेसे कमा सकते है –

  1. Content Marketing.
  2. Blogging.
  3. SEO.
  4. Website Designing.
  5. Social Media Marketing.
  6. Affiliate Marketing.
  7. Mobile Marketing.
  8. Email Marketing.
  9. Search Engine Optimization.
  10. Social Media Optimization.
  11. Social Media Marketing.
  12. Search Engine Optimization.
  13. Webmaster Tool.
  14. Social Media Marketing.
  15. Google Adwords (PPC)
  16. Google Analytics.

इसके साथऔर भी बहुत से कोर्स है जिनमे आप अपना काररीएर बनाकर पैसा कमा सकते है | विडियो एडिटिंग बिजनेस कैसे शुरू करें?

(i) सर्च इंजन SEO

यह बहुत ही महत्यवपूर्ण तकनीकी है यह एक ऐसा तकनीकी माध्यम है जो आपकी वेबसाइट आर्टिकल को सर्च इंजन के परिणाम पर सबसे ऊपर जगह दिलाता है आपकी websiteको रैंक कर टॉप मे लती है जिससे दर्शकों की संख्या में बड़ोतरी होती है। इसके लिए हमें अपनी वेबसाइट को कीवर्ड और SEO guidelines के अनुसार बनाना होता है।

(ii) सोशल मीडिया (Social Media)

सोशल मीडिया बहुत बड़ा प्लेटफार्म है सोशल मीडिया कई वेबसाइट से मिलकर बना है – जैसे Facebook, Twitter, Instagram, LinkedIn, आदि । आप भी अपनी कोई सीते बनाकर रैंक करा सकते है सोशल मीडिया के माध्यम से व्यक्ति अपने विचार हजारों लोगों के सामने रख सकता है ।

लोग उसको पड़ते है और जानकारिया या कुछ कार्य करते है आप भली प्रकार सोशल मीडिया के बारे में जानते है । जब हम ये साइट देखते हैं तो इस पर कुछ-कुछ अन्तराल पर हमे विज्ञापन दिखते हैं यह विज्ञापन के लिये कारगार व असरदार जरिया है। जिनसे धन की प्राप्ति होती है |

(iii) ईमेल मार्केटिंग (Email Marketing)

किसी भी कंपनी द्वारा अपने उत्पादों को ई-मेल के द्वारा पहुंचाना ई-मेल मार्केटिंग है। ईमेल मार्केटिंग हर प्रकार से हर कंपनी के लिये आवश्यक है क्योकी कोई भी कंपनी नये प्रस्ताव और छूट ग्राहको के लिये समयानुसार देती हैं जिसके लिए ईमेल मार्केटिंग एक सुगम रास्ता है।

(iv) यूट्यूब चेनल (YouTube Channel)

सोशल मीडिया का ऐसा माध्यम है जिसमे उत्पादक अपने उत्पादों को लोगों के समक्ष प्रत्यक्ष रुप से पहुंचाना है। लोग इस पर अपनी प्रतिक्रया भी व्यक्त कर सकते हैं। ये वो माध्यम है जहां बहुत से लोगो की भीड़ रह्ती है या यूं कह लिजिये की बड़ी सन्ख्या में users/viewers यूट्यूब पर रह्ते हैं।  ये अपने उत्पाद को लोगों के समक्ष वीडियो बना कर दिखाने का सुलभ व लोकप्रिय माध्यम है।

(v) अफिलिएट मार्केटिंग (Affiliate Marketing)

वेबसाइट, ब्लोग या लिंक के माध्यम से उत्पादनों के विज्ञापन करने से जो मेहनताना मिलता है, इसे ही अफिलिएट मार्केटिंग कहा जाता है। इसके अन्तर्गत आप अपना लिंक बनाते हैं और अपना उत्पाद उस लिंक पर डालते है । जब ग्राहक उस लिंक को दबाकर आपका उत्पाद खरीदता है तो आपको उस पर मेहन्ताना मिलता है।

(vi) पे पर क्लिक ऐडवर्टाइज़िंग या PPC marketing

जिस विज्ञापन को देखने के लिए आपको भुगतान करना पड़ता है उसे ही पे पर क्लिक ऐडवर्टीजमेंट कहा जाता है। जैसा की इसके नाम से विदित हो रहा है की इस पर क्लिक करते ही पैसे कटते हैं । यह हर प्रकार के विज्ञापन के लिये है ।यह विज्ञापन बीच में आते रह्ते हैं। अगर इन विज्ञापनो को कोई देखता है तो पैसे कटते हैं । यह भी डिजिटल मार्केटिंग का एक प्रकार है।

(vii) एप्स मार्केटिंग (Apps Marketing)

इंटरनेट पर अलग-अलग ऐप्स बनाकर लोगों तक पहुंचाने और उस पर अपने उत्पाद का प्रचार करने को ऐप्स मार्केटिंग कहते हैं । यह डिजिटल मार्केटिंग का बहुत ही उत्तम रस्ता है। आजकल बड़ी संख्या में लोग स्मार्ट फ़ोन का उपयोग कर रहे हैं । बड़ी-बड़ी कंपनी अपने एप्स बनाती हैं और एप्स को लोगों तक पहुंचाती है।

डिजिटल मार्केटिंग के फायदे

Digital Marketing  कि ज़रुरत बडी या छोटी दोनो तरह कि कंपनियों को हैं अब दोस्तो हम ये जानते हैं की Digital Marketing  कि ज़रुरत क्यो है? Digital marketing इसलिए जरुरी है क्योंकी बिना Digital marketing के हम अपने काम को सभी लेवल पर  नही कर सकते।

क्योंकि अगर हम Offline काम करते हैं तो हम अपने काम को एक सीमा तक[अपने आस पास के कुछ स्थानो तक ] ही कर सकते हैं लेकिन डिजिटल रूप मे हम अपने बिज़नेस को वर्ल्ड वाइड भी कर सकते है
Company को डिजिटल मार्केटिंग की बहुत आवश्यकता होती है।

क्या आपको पता है कंपनियों को ही डिजिटल मार्केटिंग कि ज्यादा जरुरत क्यो होती हैं तो मैं आपको बता दुँ की Companies को अपना Business बढ़ाने के लिए Digital Marketing कि ज्यादा ज़रुरत होती हैं। मैं बताता हु की बिना डिजिटल मार्केटिंग के कोई भी Business आगे नही बढ़ सकता है |

आज का समय डिजिटल मार्केटिंग का है लेकिन क्या आप जानते है की डिजिटल मार्केटिंग क्या है ये टॉपिक्स ट्रेंडिंग में क्यों है? आज की इस पोस्ट में हम Digital Marketing के बारे में चर्चा करने वाले हैं इसके अलावा यह भी जानेंगे की डिजिटल मार्केटिंग के क्या-क्या फायदे और नुकसान होते है?

 डिजिटल मार्केटिंग को लेकर इस समय आपके मन मैं बहुत सारे सवाल उठ रहे होंगे तो आज हम आपके सभी सवालों के जवाब इस पोस्ट में देंगे।

डिजिटल मार्केटिंग के बहुत फायदे है इसके अनेक फील्ड मे अनेक फायदे है इसके माध्यम से आप लोगो क साथ डिजिटल रूप से कनेक्ट कर पाते है Digital Marketing के माध्यम से आप अपने Customers को अपने Products के बारे में आसानी से बता सकते हैं। 

डिजिटल मार्केटिंग के माध्यम से आप अपने Contents या Product की Branding करके अपना खुद का एक Brand बना सकते हैं। इसमें आप अपने Brand को Social Media के माध्यम से भी Popular बना सकते हैं।

डिजिटल मार्केटिंग आपको नए ग्राहकों के साथ संबंध बनाने में मदद करता है। यह आपके उत्पाद या सेवा की अपील का परीक्षण करता है।

यह बताता है कि आपके लक्षित बाजार तक कौन से विपणन दृष्टिकोण पहुंचते हैं। यह ग्राहकों को सम्मोहक सामग्री प्रदान करता है जिसे वे संभावित ग्राहकों के साथ साझा कर सकते हैं।

डिजिटल मार्केटिंग के नुकसान

डिजिटल मार्डिकेटिंग मे शुरु म आपको थोड़ी इन्जिवेस्टटमेंट करनी होगी | जो आपको आपके काम के साथ वापस नही ,मिलेगी |आपको कुछ समय बाद जब आपका काम अच्छा होने लगेगा तब धीरे धीरे अर्निंग होना शुरु होगा |

मार्केटिंग तकनीक पर अत्यधिक निर्भरता है। सुरक्षा, गोपनीयता के मुद्दे। लगातार विकसित हो रहे पर्यावरण के कारण इसे उच्च रखरखाव लागत की आवश्यकता है। यह मूल्य निर्धारण और बढ़ी हुई कीमत प्रतियोगिता की उच्च पारदर्शिता की ओर जाता है। डिजिटल मार्केटिंग में वैश्वीकरण के माध्यम से दुनिया भर में प्रतिस्पर्धा है।

निष्कर्ष

आज का युग डिजिटल का युग है | डिजिटल युग में डिजिटल मार्केटिंग न केवल ब्रांडों को अपने उत्पादों और सेवाओं के विपणन की अनुमति देता है, बल्कि ग्राहकों को समर्थित और मूल्यवान महसूस कराने के लिए सभी समय सेवाओं के माध्यम से ऑनलाइन ग्राहक सहायता की भी अनुमति देता है।

डिजिटल मार्केटिंग मे काम आसान हो रहे है और आप कही से भी कार्य कर सकते है सोशल मीडिया इंटरैक्शन के उपयोग से ब्रांड अपने ग्राहकों से सकारात्मक और नकारात्मक प्रतिक्रिया प्राप्त कर सकते हैं। जैसे, ब्रांड और व्यवसायों के लिए डिजिटल मार्केटिंग एक बढ़ा लाभ बन गया है।

अब उपभोक्ताओं के लिए उत्पाद या ब्रांड के साथ अपने अनुभव पर सोशल मीडिया स्रोतों, ब्लॉगों और वेबसाइटों के माध्यम से ऑनलाइन प्रतिक्रिया देना आम बात है। यह व्यवसायों के लिए अपने सोशल मीडिया चैनलों के माध्यम से इन वार्तालापों का उपयोग करने और प्रोत्साहित करने के लिए तेजी से लोकप्रिय हो गया है,

ग्राहकों के साथ सीधे संपर्क रखने और उचित रूप से प्राप्त होने वाली प्रतिक्रिया का प्रबंधन करने के लिए।


Spread the love

Leave a Comment